chessbase india logo

वेल्लामल महिला ग्रांडमास्टर स्पर्धा सीधा प्रसारण

28/01/2019 -

अखिल भारतीय शतरंज महासंघ और तामिलनाडु राज्य शतरंज संघ के तत्वाधान में आज से वेल्लामल इंटरनेशनल महिला ग्रांडमास्टर शतरंज चैंपियनशिप का भव्य शुभारंभ महिला ग्रांड मास्टर आरती रामास्वामी नें पहली चाल चलकर किया । देश में महिला खिलाड़ियों को ग्रांडमास्टर बनने के लिए प्रेरित करने के उद्देश्य से इस तरह की राउंड रॉबिन प्रतियोगिता को करने का निर्णय लिया गया है जो वाकई एक अच्छा प्रयास है । प्रतियोगिता में टॉप सीड मंगोलिया की मुंगुनतूल बातखुयाग है । उनेक अलावा उक्रेन की ओसमाक उलिजा ,कजाकिस्तान की गुलिसखान नखबाएवा ,मंगोलिया की उरिंतोया उर्तशिख , और कोलंबिया की एंजेला फ़्रांकों भाग ले रही है जबकि भारतीय महिला खिलाड़ियों में छह महिला इंटरनेशनल मास्टर दिव्या देशमुख ,मिशेल कैथरीना ,आकांक्षा हागवाने ,वी वार्षिनी , सलोनी सापले ,और चंदर्यी हजरा ग्रांड मास्टर नार्म हासिल करने की कोशिश करेंगी ।

दिल्ली इंटरनेशनल - वर्ग B&C - एक बार फिर हुए कई सपने पूरे

27/01/2019 -

भारतीय शतरंज इतिहास में इससे पहले तो ना इतनी बड़ी पुरूष्कार राशि बांटी गयी ना ही कभी इतने ज्यादा खिलाड़ियों नें एक साथ किसी भी एक जगह प्र्तिभागिता की लम्हा इतिहासिक था तो इसे विश्व रिकॉर्ड बनने नें बेहद खास बना दिया । वर्ग बी और सी मिलाकर कुल 66 लाख रुपेय के पुरूष्कार लोगो को दिये गए जो अपने आप में भारतीय शतरंज खेल के भारत में एक नए दौर की झलक प्रस्तुत करता है । वर्ग बी और सी जहां मुख्य तौर वह लोग शतरंज खेलने आते है जो पूर्ण रूप से खिलाड़ी नहीं है, कोई बड़ा उद्योगपति है तो कोई बैंकर ,कोई आईएएस है पर उसी समय कोई रिक्शा वाला ,कोई सफाई वाला तो कोई मजदूर भी उनके साथ खेलता नजर आता है और यह खेल उन्हे आपस में बराबरी का भाव देता है । हालांकि उभरते हुए बच्चो के लिए भी यह एक अच्छा मंच साबित होता है और शीर्ष तीन में जगह बनाते हुए वह नजर आते है जो निश्चित तौर पर खेल की अच्छी समझ रखते है । पढे नितीश श्रीवास्तव की दिल्ली से यह रिपोर्ट । 

टाटा स्टील 2019 - भारत के लिए आनंद ही आनंद !

22/01/2019 - टाटा स्टील मास्टर्स शतरंज 2019 भारत के लिए जैसे ढेर सारी खुशियाँ लेकर आया है । भारत के 5 बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद नें अपने पिछले लगभग 3 साल का क्लासिकल शतरंज में सबसे शानदार प्रदर्शन करते हुए तीन जीत के साथ ना सिर्फ प्रतियोगिता में सयुंक्त बढ़त बनाए रखी है बल्कि अपनी विश्व रैंकिंग को लाइव रेटिंग में छठे स्थान पर पहुंचा दिया है । आनंद नें अब तक टाटा स्टील में तीन शानदार जीत नीदरलैंड के युवा वान जॉर्डन , दिग्गज पूर्व विश्व चैम्पियन रूस के व्लादिमीर क्रामनिक और अजरबैजान के ममेद्यारोव के उपर दर्ज की । साथ ही तीनों जीत के दौरान उन्होने बेहद शानदार शतरंज का प्रदर्शन किया है जो 49 वर्ष की उम्र में किसी आश्चर्य से कम नहीं है । प्रतियोगिता में खेल रहे एक और भारतीय युवा विदित गुजराती नें अब तक मेगनस कार्लसन , डींग लीरेन और अनीश गिरि से ड्रॉ खेलते हुए 2700 क्लब में पुनः वापसी कर ली है । पढे यह लेख..

विश्व रिकार्ड के साथ दिल्ली ओपन 2019 का समापन, लेवन पंसुलिया बने विजेता, गुकेश नें बढ़ाया मान

18/01/2019 -

दिल्ली इंटरनेशनल ओपन का समापन इस वर्ष एक नए विश्व रिकार्ड बनने की बड़ी उपलब्धि के साथ हुआ , तकरीबन 2800 खिलाड़ियों की प्रतिभागिता नें ईसीए एक बार फिर शतरंज का कुम्भ साबित किया तो भारत की अनेकता में एकता को साबित करता यह खेल अगले वर्ष 1 करोड़ 11 लाख की पुरूष्कार राशि की घोषणा के साथ अगले वर्ष की तैयारियों में जुटने का संदेश दे गया । खैर वर्ग एक के मुक़ाबले में इस बार शीर्ष तीन में भले ही कोई भारतीय नहीं रहा पर गुकेश के दुनिया के सबसे युवा ग्रांड मास्टर बनने की उपलब्धि नें इसे सफल बना दिया । विशाख एनआर नें भी ग्रांड मास्टर टाइटल हासिल किया तो उत्कल रंजन साहू और सौरभ आनंद नें इंटरनेशनल मास्टर बनने की औपचरिकताए पूरी की । वर्ग ए में जॉर्जिया के ग्रांड मास्टर लेवन पंसुलिया नें खिताब अपने नाम किया । 8 अंको पर 7 खिलाड़ियों के बीच टाई हुआ और ईरान ले मौसूद नें दूसरा तो बेलारूस के स्टुपिक किरिल नें तीसरा स्थान हासिल किया । वर्ग बी में तामिलनाडु के धनुष राघव तो वर्ग सी में बिहार के बीर कुमार नें 3 लाख रुपए के भारी भरकम पुरूष्कार अपने नाम किए । पढे यह लेख ... 

दिल्ली इंटरनेशनल : सातवाँ राउंड सात चालों में हारे रहमान

14/01/2019 -

सात राउंड के बाद दिल्ली इंटरनेशनल शतरंज टूर्नामेंट अब भी पूरी तरह से खुला हुआ है मतलब कौन सा खिलाड़ी खिताब जीतेगा यह कहना मुश्किल है । भारत की ओर से उम्मीद टिकी हुई है ग्रांडमास्टर देबाशीष दास और दीप्तयान घोष पर जो फिलहाल तीन अन्य खिलाड़ियों ईरान के मोसौद मोसेदगापोर ,वियतनाम के मिन्ह ट्रान और बेलारूस के ग्रांडमास्टर स्टुपक किरिल के साथ 6 अंक बनाकर सयुंक्त बढ़त पर चल रहे है । खैर इन सबके बीच सातवाँ राउंड चर्चा में रहा जब बांग्लादेश के दिग्गज ग्रांडमास्टर जियौर रहमान मात्र सात चालों में खेल में हार स्वीकार करने को मजबूर हो गए , तो क्या हुआ था इस मैच में जाने इस लेख में साथ ही जाने क्या बन गया है विश्व रिकार्ड फीडे के किसी भी ओपन मैच में सर्वाधिक खिलाड़ियों के खेलने का । पढे यह लेख 

दिल्ली इंटरनेशनल - फारुख को गिरीश नें ड्रॉ पर रोका

11/01/2019 -

कहा जा रहा है की इस समय दिल्ली में चल रही सर्द हवाए पिछले 38 सालों में सबसे ज्यादा ठंडी है तो ठीक कुछ इसी तरह दिल्ली में चल रहा इंटरनेशनल ग्रांडमास्टर टूर्नामेंट भारतीय शतरंज इतिहास का सबसे बड़ा महोत्सव बन गया है । खिलाड़ियों और पुरुष्कारों की बढ़ती संख्या के बीच व्यवस्थाओं में भी लगातार बेहतरी देखने को मिल रही है । बात करे मैच की तो पहले तीन राउंड के बाद 23 खिलाड़ी अपने सभी मैच जीतकर सयुंक्त बढ़त पर चल रहे है और कई दिग्गज को या तो अंक गवाने पड़े है या बांटने पड़े है । तीसरे राउंड में टॉप सीड ओमानतोव अपनी सीडिंग नहीं बचा पाये और उन्हे भारत के गिरीश कौशिक नें एक आसान ड्रॉ पर रोका तो शीर्ष भारतीय खिलाड़ी वैभव सूरी नें लगातार दो ड्रॉ खेले । दिल्ली की उम्मीद अभिजीत गुप्ता को भी तीसरे राउंड में हमवतन उत्कल रंजन साहू से ड्रॉ खेलने पर विवश होना पड़ा । खैर आज पहले बोर्ड पर नजर आएंगे डी गुकेश जो की रूस के अलेक्ज़ेंडर प्रेडके से मुक़ाबला खेलेंगे उनके अलावा दीप्तयान घोष , दीपन चक्रवर्ती और देबाशीष दास जैसे खिलाड़ियों पर भी नजर रहेगी । चेसबेस इंडिया के सीधे प्रसारण के साथ पढे निकलेश जैन का यह लेख ।  

17वां दिल्ली इंटरनेशनल:बना इतिहास,रोमांचक यात्रा शुरू

10/01/2019 -

17 सालों पहले बुना गया एक सपना आज एक ऐसे पायदान पर जा पहुंचा जो भारतीय शतरंज के लिए एक इतिहास बन गया । अखिल भारतीय शतरंज संघ के सचिव भारत सिंह चौहान नें अपने दो बेहतरीन साथियों एके वर्मा और गोपाकुमार के साथ हर वर्ष इस अकल्पनीय सपने की बुनियाद रखी और साथ ही दिल्ली शतरंज संघ के अनगिनत कार्यकर्ताओं के योगदान को भी आप कम करके नहीं आंक सकते । भारतीय शतरंज जगत में 1 करोड़ की पुरूष्कार राशि छूने वाला दिल्ली इंटरनेशनल इतिहास का पहला टूर्नामेंट बन गया । क्रिकेट को सर्वोपरि मानने वाले भारत में शतरंज नें एक नया मुकाम हासिल किया । साथ ही साथ तीनों वर्गो में मिलाकर 3000 खिलाड़ियों की उपस्थिती की संभावना नें ही इसे एशिया ही नहीं दुनिया के सबसे बड़े ओपन मैच का तमगा दे दिया है । खैर पहले दिन हुए मुक़ाबले में अधिकतर शीर्ष खिलाड़ियों नें आसान जीत दर्ज की । पर हालांकि हर्षा भारतकोठी जरूर उलटफेर का शिकार हुए । चेसबेस इंडिया की दिल्ली ओपन की पहले राउंड की विस्तृत रिपोर्ट ।  

मुंबई इंटरनेशनल - भारत के अभिमन्यु नें सम्हाला मोर्चा

06/01/2019 -

मुंबई में चल रहे आईआईएफ़एल मुंबई इंटरनेशनल शतरंज में अंतिम निर्णायक राउंड के पहले अचानक खिताब कौन जीतेगा यह कहना मुश्किल हो गया है ।  भारतीय ग्रांडमास्टर और विश्व जूनियर शतरंज उपविजेता अभिमन्यु पौराणिक नें प्रतियोगिता के लीडर और भोपाल इंटरनेशनल के विजेता मिन्ह ट्रान को मात्र 26 चालों में हार का स्वाद चखाकर झटका देते हुए प्रतियोगिता को एक बार फिर रोचक बना दिया है । भारत के डी गुकेश नें भी शानदार प्रदर्शन के साथ जीत दर्ज करते हुए मिन्ह और अभिमन्यु के साथ सयुंक्त बढ़त हासिल कर ली है और ऐसे में जब सिर्फ एक राउंड बाकी है देखना होगा की खिताब किसके हाथ आता है ।

दिलीप त्रिपाठी ने जीता शिवानी यूपी स्टेट फीडे रेटिंग

04/01/2019 -

नवाबों के शहर लखनऊ में हुए प्रथम शिवानी रेटिंग स्पर्धा का खिताब वाराणसी के दिलीप त्रिपाठी नें अपने सभी छह मैच जीतकर हासिल कर लिया ।  दसवें सीड दिलीप नें इस पहला ,पवन बाथम नें दूसरा तो विकास निषाद नें तीसरा स्थान हासिल किया । प्रतियोगिता का आयोजन अपनी 250 रुपेय प्रवेश शुल्क को लेकर चर्चा में रहा और 251 खिलाड़ियों की प्रतिभागिता नें इसे सफल बना दिया । शिवानी पब्लिक स्कूल में आयोजित प्रथम शिवानी स्टेट फीडे रेटिंग शतरंज प्रतियोगिता के पुरस्कृत खिलाड़ियों को इंटरनेशनल आर्बीटर ऐ के रायजादा और लखनउ जिला चेस स्पोर्ट्स एसोसिएशन के प्रेसिडेंट सुधीर दूबे ने सर्टिफिकेट, शील्ड व नकद धनराशि देकर सम्मानित किया।  देखे चेसबेस इंडिया के लिए नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट । 

रत्नाकरण नें जीता चेसबेस इंडिया भोपाल ब्लिट्ज़

03/01/2019 -

आपने अब तक चेसबेस इंडिया ऑनलाइन ब्लिट्ज़ टूर्नामेंट के बारे में सुना होगा पर क्या आपको पता है । अभी अभी सम्पन्न हुए भोपाल इंटरनेशनल  ग्रांडमास्टर शतरंज चैंपियनशिप में  27 दिसंबर को चेसबेस इंडिया नें आयोजन समिति के सहयोग से ब्लिट्ज़ स्पर्धा का आयोजन किया । खास बात यह थी की इस प्रतियोगिता में खिलाड़ियों को पुरूष्कार के तौर पर चेसबेस 15, फ्रिट्ज़ 16 जैसे साफ्टवेयर दिये गए , साथ ही साथ चेसबेस अकाउंट और शानदार किताबे खिलाड़ियों को पुरूष्कार में दी गयी । खिलाड़ियों ने बढ़ चढ़ कर प्रतियोगिता में भाग लिया और 191 खिलाड़ियों की प्र्तिभागिता को सफल बनाया । भोपाल इंटरनेशनल के सचिव कपिल सक्सेना और पूरी आयोजन समिति नें इसे वाकई विश्वस्तरीय बनाया तो ग्रांड मास्टर आरआर लक्ष्मण , रत्नाकरण , एस नितिन , जैसे खिलाड़ियों की प्रतिभागिता नें इसमें वह रोमांच ला दिया जिसकी आवश्यकता थी ।पढे यह लेख .. 

विश्व रैपिड और ब्लिट्ज़ - नए चेहरो नें बनाई जगह

31/12/2018 -

रूस के सेंट्सपीत्स्बर्ग में सम्पन्न हुए विश्व रैपिड और ब्लिट्ज़ शतरंज चैंपियनशिप का कल भव्यता के साथ समापन हो गया । रैपिड में जहां रूस के डेनियल डुबोव नें  सभी को चौंकाते हुए विश्व विजेता बनने का कारनामा किया तो ब्लिट्ज़ में  रूस की ही लाग्नों काटेरन्या नें एक नए चेहरे के तौर विश्व विजेता का ताज पहना । फीडे के नए अध्यक्ष आकार्दी दोर्कोविच के पद सम्हालने के बाद रूस में हुए इस मुक़ाबले में मेजबान नें दो स्वर्ण पदक हासिल किए और इसे विश्व शतरंज में रूस के एक बार फिर दबदबे का संकेत मिलता है । खैर रैपिड में जु वेंजून नें महिलाओं में स्वर्ण पदक हासिल किया पर ब्लिट्ज़ में वह अपनी कामयाबी दोहरा नहीं सकी। मेगनस कार्लसन नें ब्लिट्ज़ में स्वर्ण पदक लेते हुए कुछ हद तक विश्व रैपिड में अपने खराब प्रदर्शन की भरपाई कर ली । अमेरिका के हिकारु नाकामुरा और इज़राइल की के सारासादेत दोनों रैपिड और ब्लिट्ज़ में जगह बनाने में कामयाब रहे । पढे यह लेख 

वियतनाम के ट्रान मिन्ह बने भोपाल इंटरनेशनल विजेता

29/12/2018 -

भोपाल इंटरनेशनल ओपन 2018 का खिताब अंततः वियतनाम के नाम रहा और  ग्रांडमास्टर ट्रान मिन्ह नें अपने शानदार खेल से एक अंक के अंतर से खिताब अपने नाम कर लिया । उन्हे खिताब हासिल करने के लिए सिर्फ ड्रॉ की आवश्यकता थी पर उन्होने स्लोवाकिया के ग्रांड मास्टर माणिक मिकुलस को कोई मौका दिये बगैर जीत दर्ज करते हुए शानदार अंदाज मे खिताब अपने नाम किया । आपको बता दे की पिछले वर्ष वह इस स्पर्धा में तीसरे स्थान पर रहे थे । वियतनाम के ही पूर्व विजेता नुएन वान हुय नें भारत के उत्कल रंजन साहू से ड्रॉ खेलते हुए दूसरा स्थान हासिल किया जबकि उत्कल नें अपना तीसरा और अंतिम इंटरनेशनल मास्टर नार्म हासिल कर लिया । तीसरे स्थान पर भारत के श्यामनिखिल रहे । प्रतियोगिता का समापन मध्य प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ऋषि शुक्ला , खेल संचालक डॉ एसएल थाउसेन , पूर्व प्रदेश सचिव एसएन रूपला, और अखिल भारतीय शतरंज संघ के सहसचिव और आयोजन सचिव कपिल सक्सेना  की गरिमामई उपस्थिती में सम्पन्न हुआ । 

भोपाल इंटरनेशनल - वियतनाम के ट्रान जीतेंगे खिताब ?

28/12/2018 -

मध्य भारत के सबसे प्रतिष्ठित इंटरनेशनल ग्रांडमास्टर टूर्नामेंट भोपाल ओपन 2018 अब अपने अंतिम  पड़ाव पर आ गया है और एक बार फिर खिताब विदेशी खिलाड़ी की झोली में जाता दिखाई दे रहा है । तो देखना होगा की सबसे आगे चल रहे वियतनाम के ट्रान मिन्ह क्या अपनी बढ़त को कायम रखते हुए खिताब अपने नाम कर पाएंगे या फिर अंतिम राउंड में हमें कोई उलटफेर देखेने को मिलेगा । वैसे तीन भारतीय खिलाड़ी विघ्नेश एनआर , राहुल वीएस और उत्कल रंजन साहू किसी भी उलटफेर की स्थिति में 7.5 अंको के साथ अब भी खिताब के दावेदार बने हुए है । मेजबान मध्य प्रदेश के अनुज श्रीवात्रि और अंकित गजवा भी अंतिम राउंड जीतकर शीर्ष 10 में जगह बना सकते है । इन सबसे अलावा कल चेसबेस इंडिया भोपाल ओपन जीएम टूर्नामेंट का भी आयोजन किया गया जिसमें 190 खिलाड़ियों नें प्रतिभागिता की जिस पर जल्द ही आप एक रिपोर्ट पढ़ेंगे । 

लखनऊ में शिवानी फीडे रेटिंग बना आकर्षण का केंद्र

24/12/2018 -

शतरंज जैसे खेल में जहां एक और करोड़ो रुपेय के पुरुषकार राशि के बड़े बड़े टूर्नामेंट हो रहे है तो एक और उत्तरप्रदेश के नवाबो के शहर लखनऊ इस समय हो रहा उत्तरप्रदेश राज्य फीडे शतरंज टूर्नामेंट अपने आप में अपनी 250 रुपेय प्रवेश शुल्क को लेकर चर्चा में बना हुआ है । 50 हजार रुपए पुरूष्कार राशि वाले इस मैच में तकरीबन 251 खिलाड़ी भाग ले रहे है और तकरीबन 75 रेटेड खिलाड़ियों की उपस्थिती से अपनी रेटिंग हासिल करने की कोशिश कर रहे है । उस राज्य से जिसने किसी समय भारतीय शतरंज को कई बड़े खिलाड़ी दिये है इस तरह के प्रयास निश्चित तौर पर इसे पुनः खेल के विकाशशील राज्य की तरफ ले जाने के लिए तैयार है । पढे  नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट

भोपाल इंटरनेशनल - 11 खिलाड़ी सयुंक्त बढ़त पर

23/12/2018 -

मध्य भारत के सबसे बड़े और प्रमुख ग्रांडमास्टर शतरंज स्पर्धा भोपाल ओपन के शुभारंभ के साथ ही भारतीय शीतकालीन सबसे बड़े शतरंज टूर्नामेंट सीरीज का आरंभ हो चुका है और 13 देशो से आए सभी खिलाड़ियों और भारतीय खिलाड़ियों की मौजूदगी में 366 खिलाड़ियों नें प्रतिभागिता करते हुए इस मैच को बेहद खास बना दिया है । चार मुक़ाबले खेले जा चुके है और तीसरे राउंड में ही टॉप सीड अलेक्सेज़ की हार नें प्रतियोगिता में रोमांच चरम पर पहुंचा दिया है । भोपाल इंटरनेशनल नें लगातार दूसरी बार अपनी शानदार मेजबानी से सभी का दिल जीत लिया है और सीधे प्रसारण का भी जोरदार इंतजाम यहाँ पर किया गया है जो अभिभावकों और दर्शको के लिए रोमांच का कारण बना हुआ है । फिलहाल शुरुआती चार राउंड के बाद फिलहाल वियतनाम के ट्रान तुयान मिन्ह और वान हेय ,अर्मेनिया के केरेन मोवेस्जियन ,रूस के आंद्रे दविएटकिन ,मिश्र के एलगबरी मोहसेन , और भारत के आरआर लक्ष्मण ,रत्नाकरण ,एस नितिन और विघ्नेश एनआर अपने सभी चारों मैच जीतकर सयुंक्त बढ़त पर चल रहे है ।